शरद पूर्णिमा 2019: जानिए कब है शरद पूर्णिमा, क्या है महत्व और शुभ मुहूर्त

आश्विन मास के शुक्ल पक्ष की पूर्णिमा को शरद पूर्णिमा कहा जाता है। इसे रास पूर्णिमा के नाम से भी जाना जाता है। ज्योतिषशास्त्र के अनुसार पूरे वर्ष में केवल इसी दिन चंद्रमा सोलह कलाओं से निपुण होता है और इससे निकलने वाली किरणें इस रात्रि में अमृत बरसाती हैं। शरद पूर्णिमा की रात्रि को दूध की खीर बनाकर चंद्रमा की रोशनी में रखी जाती है। मान्यता है कि चंद्रमा की किरणें खीर में पड़ने से यह अमृत समान गुणकारी और लाभकारी हो जाती हैं। आज के दिन पवित्र गंगा जी का जल भरने का रिवाज है। वैज्ञानिक तथ्यों के अनुसार इस…

Continue Reading

भारत के अधिकतर इलाकों में देखा गया चंद्रग्रहण, कई हिस्सों में रहा बादलों का पहरा, देखें पल पल की अपडेट

आषाढ़ शुक्लपक्ष की पूर्णिमा यानी गुरु पूर्णिमा पर चंद्रग्रहण का अद्भुत संयोग देशभर में देखा गया। हालांकि, कई हिस्सों में इस खगोलीय नजारे पर बादलों ने पहरा लगा दिया। दिल्ली-एनसीआर में लगाताप घुमड़ते बादलों के बीच आंशिक चंद्रग्रहण देखा गया। आकाशीय गतिविधियों में रुचि रखने वाले रात में जागकर इसे देखते रहे। जानकारों के मुताबिक, 2021 तक फिर इतने स्पष्ट चंद्रग्रहण को देखने का संयोग नहीं बनेगा। इस वर्ष का यह आखिरी और दूसरा चंद्रग्रहण था। कहा जा रहा है कि करीब डेढ़ सौ यानी 149 वर्षों में इस तरह के चंद्रग्रहण का संयोग बना। भारतवासियों के लिए यह संयोग इसलिए…

Continue Reading

जुलाई के महीने में है बर्थडे? तो अपने बारे में जानिए ये 7 खास बातें

विभिन्न शोध के अनुसार व्यति के जन्म का महीना, वार और दिन उसके व्यक्तित्व की झलक देते हैं। उसके स्वभाव से जुड़े कई राज खोलते हैं। उसकी पसंद और नापसंद के बारे में भी बताते हैं। आज से जुलाई का महीना शुरू हुआ है। अगर आपका भी इसी महीने बर्थडे है तो आगे बताए जा रहे पॉइंट्स में अपने व्यकतित्व के बारे में कुछ अनकही बातें जानें। क्या पता खुद की पर्सनालिटी की ये बात आप खुद भी ना जानते हों:

1) जुलाई में जन्मे लोग समझदार होते हैं

साल के 7वें महीने यानी जुलाई में जन्मे लोगों को अक्सर…

Continue Reading

अंतरराष्ट्रीय योग दिवस विशेष: योग' का क्या है मतलब और हजारों साल पहले किसने की इसकी शुरुआत, जानिए

इंटरनेशनल योगा डे (21 जून) की अब पूरी दुनिया में धूम है। धीर-धीरे हर कोई अपने स्वास्थ्य को बेहतर बनाने के लिए योग का महत्व समझ रहा है। पूरी दुनिया का भले ही पिछले कुछ दशकों से योग से परिचय हुआ है लेकिन भारत में इसकी परंपरा हजारों वर्षों से रही है।

हालांकि, यह भी सही है कि बीच के कुछ कालखंड ऐसे रहे जहां भारत में ही योग को भूलाया जाने लगा था। अब इसे लेकर काफी बदलाव आया है। योग और भारत के इसमें योगदान को दुनिया समझने लगी है। आईए, योगा इंटरनेशनल डे के इस मौके पर हम आपको…

Continue Reading

अगर घर में है इस तरह के हनुमान चित्र तो होगी बहुत अशांति, कहीं आपके घर में तो नहीं है?

जिस तस्वीर में हनुमान जी संजीवनी लिए हुए आकाश में उड़ रहें हो ऐसी तस्वीर को घर में नहीं लगाना चाहिए। शास्त्रों में कहा गया कि हनुमान जी के मूर्ति की पूजा हमेशा स्थिर अवस्था में ही करना चाहिए।

 

घर पर भगवान हनुमान जी की ऐसी तस्वीर या मूर्ति को कभी भी नहीं रखना चाहिए जिसमें उन्होंने अपनी छाती को चीर रखा हो।

 

ऐसी तस्वीर जिसमें हनुमान जी ने अपने कंधों पर भगवान राम और लक्ष्मण को बैठा रखा हो उस तस्वीर को नहीं लगाना चाहिए।

 

राक्षसों का संहार करते हुए या फिर हनुमान जी द्वारा लंका…

Continue Reading